चूहा दौड़ में फसें रहने मे समझदारी नहीं है ! कैसे बचे, क्या करें ?

चूहा दौड़ मे फंसे रहने मे समझदारी नहीं है , कैसे बचे ?

इसे समझने के लिए युवा पति पत्नी की कहानी की तरफ चलते है ।

युवा पति पत्नी की आमदनी बढ़ने के साथ अपने सपनों का घर लेने का फैसला लेते हैं ।इससे उनपर प्रॉपर्टी टैक्स का एक नया बोझ आ जाता हैं । अचानक वे सपने से जागते हैं और देखते हैं कि उनके दायित्व का कॉलम बढ़ गया है ।वे कर्ज में है और उन्हें बहुत से मॉर्टगेज ऋण और क्रेडिट कार्ड ऋण चुकाने हैं ।अब वे चूहा दौड़ मे फंस चुके है ।एक बच्चा पैदा हो जाता हैं । वे और कड़ी मेहनत करते है ।अब बड़ा कंज्यूमर लोन भी ले लेते हैं ।

अब शहर में  एक बड़ी सी सेल लगती हैं । वे कहते है मैं कुछ नहीं खरीदूंगा ! मै तो सिर्फ देखने जा रहा हूं । लेकिन उनकी खर्चीली आदतों के कारण मजबूरी में क्रेडिट कार्ड से ढेर सारी शॉपिंग कर आते है ।इस तरह उनके खर्चे बढ़ते जाते है । खुशहाल पति पत्नी सोचते हैं कि ज्यादा पैसा कमाने के लिए अब उन्हे ज्यादा मेहनत करना चाहिए ।अब उन्हे एक बड़े घर की जरूरत महसूस होती हैं । अब उन्ह इनकम टैक्स , प्रॉपर्टी टैक्स , सामाजिक सुरक्षा टैक्स चुकाने है ।

इस तरह बहुत से टैक्स चुकाते चुकाते  उनकी तनख्वाह चूक जाती हैं ।अब बच्चो के कॉलेज के लिए एजुकेशन लोन ले लेते है ।और फिर उन्हें अपने रिटायरमेंट के लिए पैसा भी बचाने की चिंता भी सताने लगती हैं ।३५ साल पहले पैदा हुए यह खुशहाल दंपत्ति अब अपनी  नौकरी के बाकी दिन चूहा दौड़ मे फंस कर बिताते है ।

मैं किस तरह इस चूहा दौड़ से बाहर निकल सकता हूं , ताकि मुझे दोबारा काम न करना पड़े ।ज्यादातर लोगो की जिंदगी में एक बार मिलने वाला सुनहरा अवसर उनके सामने पड़ा हुआ मिलता हैं , परंतु वे उसे नहीं देख पाते।एक साल बाद उन्हें इसका पता चलता है ,जब बाकी सभी लोग अमीर बन जाते है ।खुद से पूछे कि WII FM यानी whats in it for me ? । इसमें मेरे लिए क्या हैं ?

इसे भी पढ़ें 

  पैसा बनाने में कड़ी मेहनत करने से दौलत कभी नहीं बनेगी

क्या तनख्वाह के भरोसे रहना आपके लिए जोखिम भरा काम है

ज्यादातर लोग इतने आलसी होते है कि वे कभी अमीर नहीं बन सकते

स्कूल में क्या नहीं सिखाया जाता जो असल जिंदगी आपको सिखाती हैं

सफल होने की टिप्स

सक्सेस मंत्रा

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है और इसे क्यों करना चाहिए

 

आंकड़े किस तरह काम करते हैं 

अपने खर्चों को सीमित रखे ।

अपनी संपत्ति को सबसे पहले बनाए ।फिर बड़ा घर या शानदार कार खरीदे ।

रॉबर्ट कियोसाकी कहते है कि मैं कई बार फाइनेंशियल भट्टी में तपा हूं ।

गरीब लोगों की आदतें भी गरीब होती हैं । 

हमारी जिंदगी पर हमारी शिक्षा से ज्यादा असर हमारी आदतों का पड़ता है ।

गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार के लोगो की एक आम बुरी आदत है बचत में से पैसे निकाल लेना । अगर आप अंदर से  कठोर नहीं है ,तो दुनिया आपको इधर से उधर धकेलेगी।अमीर लोग जानते है कि बचत को ज्यादा धन कमाने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं ,न की बिलों का भुगतान करने के लिए ।मैं उतने ही पैसों से खेल खेलता हूं, जितने का नुकसान मैं सहन कर सकता हूं ।

आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग किस तरह की है ?

अमीर बनने की कुंजी है अर्जित आय को निष्क्रिय आय या पोर्टफोलियो आय में जितनी जल्दी संभव हो सके बदलने की योग्यता । 

अर्जित आय पर टैक्स सबसे ज्यादा लगता है । सबसे काम टैक्स निष्क्रिय आय पर लगता हैं ।अपने जीवन के बारे में एक लंबा दृष्टिकोण रखें ।जीवन बहुत हद तक जिम जाने की तरह ही है ।मै जिम जाने में बिल्कुल रुचि नहीं रखता हूं , परंतु मैं वहां इसलिए जाता हूं ताकि मैं ज्यादा फिट हो सकूं।

आपके इनकम स्टेटमेंट , बैलेंस शीट और मासिक कैश फ्लो मे यदि लायबिलिटी वाले कॉलम मे आपकी पसंद की कोई वस्तु दिख रही हैं , जिसका कर्जा आपके आने वाले भविष्य के लिए बड़ा खतरा बन सकता हैं तो उसे अभी रहने दीजिए।जब आपको आंकड़े देख के लगे की आपकी प्यारी वस्तु जैसे नाव आपको जिंदा खा रही है तो आपको झटका लगेगा ।

 

 

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *